देश में पेट्रोल-डीजल के दाम लगातार 7 वें दिन बढ़े

देश में पेट्रोल-डीजल के दाम लगातार 7 वें दिन बढ़े

कोरोना के समय दिए गए लॉकडाउन के बाद अभी भारत में अनलॉक का समय चल रहा है और धीरे धीरे भारत में सभी दूकान-बाजार फिरसे शुरू हो रहे है| लेकिन इसके बिच तेल कंपनियों ने लगातार सातवें दिन पेट्रोल-डीजल की कीमतों में वृद्धि की है| सातवे दिन भी तेल की कीमतों में लगातार हो रही वृद्धि के कारण अब वृद्धि 4.00 रुपये हो गई है|

समाचार के महत्वपूर्ण बिंदु

  • पेट्रोल-डीजल के दाम लगातार सातवे दिन भी बढे
  • देश में पेट्रोल-डीजल के दाम लगातार बढ़ने के कारण विपक्ष ने भी सरकार पर अपना निशाना साधा|
  • क्रूड की कीमतें दो दशक के निचले स्तर पर पहुंच गईं, लेकिन ईंधन की कीमतें आसमान छू रही हैं: कांग्रेस
  • मोदी सरकार के द्वारा पेट्रोल डीजल से अंतिम सप्ताह में 44,000 करोड़ और 5 मार्च के बाद 2.5 लाख करोड़ रुपये की इनकम की है|: कपिल सिब्बल

तेल की लगातार बढाती कीमतों के कारण देश में पेट्रोल की कीमतों में 59 पैसे प्रति लीटर और डीजल में 58 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी की गई है। राष्ट्रीय राजधानी में, पेट्रोल की कीमत 75.16 और डीजल 73.39 हो गई है| कोलकाता में पेट्रोल की कीमत 77.05 और डीजल 69.23 है| चेन्नई में, पेट्रोल की कीमत 78.99 और डीजल 71.64 है|

मुंबई में देश के चार महानगरों में सबसे अधिक पेट्रोल-डीजल की कीमतें हैं। मुंबई में पेट्रोल 82.10 रुपये प्रति लीटर और डीजल 72.03 रुपये प्रति लीटर है।

पट्रोल-डीजल की बढाती कीमतों का कारण

पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी के कई कारण हैं। दुनिया भर के कई देशों में लॉकडाउन के खुलने के कारण कच्चे तेल की मांग लगातार बढ़ रही है। कच्चे तेल की कीमतें मजबूत होने लगी हैं और डॉलर के मुकाबले रुपये में भी गिरावट दिखा रही है । दूसरी और तेल की कंपनियां अपने लॉकडाउन के घाटे का बोझ उपभोक्ताओं के पास से वसूल कर रही है|

अभी कब तक पेट्रोल डीजल की कीमते बढेंगी

अभी और कुछ दिनों तक पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ने की संभावना दिख रही है| क्योंकि मांग की वृद्धि अधिक है और तेल कंपनी अपने नुकशान की भरपाई कराने का पण बना चुकी है|

कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल का कहना है की “अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल की कीमतें 15 साल के निचले स्तर पर होने के बावजूद, पेट्रोल और डीजल की कीमतें आसमान छू रही हैं जिसकी वजह से आम आदमी सबसे अधिक पीड़ित है| “

लोगो का क्या कहना है

अभी भी लॉक डाउन और कोरोनावायरस के असर के चलते कई लोगो के रोजगार बंद हो चुके है या बहोत ही कम चल रहे है ऐसे में उनके द्वारा इस परिस्थिति में पेट्रोल डीजल की बढती कीमते दुगनि मार साबित हो रही है| लोगो का कहना है की सरकार को इस विषय में सोचना चाहिए और पेट्रोल-डीजल के दाम लगातार जो बढ़ रहे है उस पर नियंत्रण लाने के अच्छे प्रयास करना चाहिए|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *